कर्नाटक राज्य में डिग्री कॉलेजों को फिर से खोलने को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं- कर्नाटक डिप्टी सीएम।

Fri , 09 Jul 2021, 8:46 pm
कर्नाटक राज्य में डिग्री कॉलेजों को फिर से खोलने को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं- कर्नाटक डिप्टी सीएम।
कर्नाटक यूनिवर्सिटी।

गुरुवार को कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वथ नारायण ने  बताया कि कर्नाटक सरकार ने राज्य में डिग्री कॉलेजों को फिर से खोलने के विषय में अभी तक कोई  तारीख तय नहीं की है और राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करने के बाद ही तारीखों का फैसला किया जाएगा।
 
उच्च शिक्षा विभाग  स्थान  रखने वाले नारायण ने अपने एक बयान में कहा था कि राज्य की छात्र आबादी सुरक्षित है यह सुनिश्चित करने के लिए कॉलेजों को फिर से खोलने से पहले कोविड -19 के खिलाफ 18 वर्ष से अधिक आयु के छात्रों का टीकाकरण करना आवश्यक है। राज्य में कोविड-19 महामारी के तेजी से प्रसार को देखते हुए कर्नाटक में स्कूल और कॉलेज मार्च 2020 से बंद हैं। फिलहाल अभी सारी शैक्षणिक गतिविधियां और कक्षाएं ऑनलाइन संचालित की जा रही हैं।
 
 
कॉलेज के छात्रों के लिए टीकाकरण आवश्यक।
 
 
कर्नाटक सरकार ने  पिछले महीने, शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने और एक साल से अधिक समय के बाद शारीरिक कक्षाओं को फिर से शुरू करने की सुविधा के प्रयास में कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में सभी छात्रों का टीकाकरण करने का निर्णय लिया। इस निर्णय से पहले , डिप्टी सीएम अश्वय  नारायण ने 7 जुलाई तक  सभी वाइस चान्सलर  के लिए 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी डिग्री कॉलेज के छात्रों को टीकाकरण करने की समय सीमा निर्धारित की थी, ताकि संस्थान अगस्त से कई कोविड -19 दिशानिर्देशों के साथ फिर से खुल सकें। 
 

डीप्टी सीएम ने  कहा कि सरकारी संस्थानों और सहायता प्राप्त संस्थानों में 65 प्रतिशत छात्रों का टीकाकरण किया जा चुका है।

 

 

प्राप्त संस्थानों में 65 प्रतिशत छात्रों का टीकाकरण किया जा चुका है।

शिक्षा
Scroll To Top