दृष्टि पहल का उद्देश्य हमारी जनशक्ति को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करना है: सीएमडी एसजेवीएन

Mon , 28 Nov 2022, 11:49 am
दृष्टि पहल का उद्देश्य हमारी जनशक्ति को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार करना है: सीएमडी एसजेवीएन
CMD SJVN inaugrates drishti conclave 2022

NEW DELHI- एसजेवीएन ने शिमला, हिमाचल प्रदेश में अपने कार्यपालकों के लिए द्वितीय दृष्टि कॉन्क्लेव 2022 का आयोजन किया। मुख्य अतिथि, श्री अजय मित्तल, आईएएस (सेवानिवृत्त) ने श्री नन्‍द लाल शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन की उपस्थिति में कॉन्क्लेव का उद्घाटन किया। 
 
श्री नन्‍द लाल शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एसजेवीएन ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि दृष्टि कॉन्क्लेव-2022, वर्तमान वित्तीय वर्ष के दौरान 1012 कर्मचारियों के लिए आयोजित एक विचार विनिमय प्रशिक्षण कार्यक्रम ’दृष्टि’’ का समापन है। 
 
विद्युत के क्षेत्र में लगातार हो रही प्रगति ने कर्मचारियों के लिए यह आवश्यक बना दिया है कि वे नवोन्मेषी, निर्णय लेने में तीव्र, अनुकूलनीय, और किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए सदैव तत्‍पर रहें। इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों ने कर्मचारियों को वर्ष 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 25000 मेगावाट और वर्ष 2040 तक 50000 मेगावाट कंपनी बनने के साझा विजन को प्राप्त करने में सामने आने वाली नई चुनौतियों और अवसरों की पहचान करने और उनका आकलन करने में सहायता की। 
 
मुख्य अतिथि श्री अजय मित्तल, आईएएस (सेवानिवृत्त) ने हाल ही के दिनों में कंपनी के उल्लेखनीय विकास और व्‍यापक पैमाने पर पोर्टफोलियो में वृद्धि करने के लिए प्रबंधन और एसजेवीनाइट्स के प्रयासों की सराहना की। 
 
उन्होंने कर्मचारियों को नए असाइनमेंट और चुनौतियों के लिए तैयार रहने और उन्हें आत्मसात करने के लिए दृष्टि के रूप में एक साझा मंच प्रदान करने के लिए प्रबंधन की भी सराहना की।
 
दो दिवसीय कान्‍क्‍लेव में एसजेवीएन के पूर्व अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री एच.के. शर्मा और श्री आर.पी. सिंह, पूर्व निदेशक (सिविल) श्री जे.के. शर्मा, पूर्व निदेशक (विद्युत) श्री आर. डी. प्रभाकर, श्री आर. के. बंसल और श्री एच. आर. मल्होत्रा, पूर्व निदेशक (वित्त) श्री ओ. एन. सिंह और श्री अमरजीत सिंह बिंद्रा और निदेशक (कार्मिक) श्री आर. एस. कटोच ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। वर्तमान निदेशक मंडल श्रीमती गीता कपूर निदेशक (कार्मिक), श्री ए.के. सिंह निदेशक (वित्त), श्री सुशील शर्मा निदेशक (विद्युत) और मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री प्रेम प्रकाश भी उपस्थित रहे। पूर्व अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशकों और निदेशकों ने अपने संबोधन में एसजेवीएन को नई ऊंचाईयों में ले जाने के लिए सुदृढ़ प्रयास करने के लिए प्रबंधन और कर्मचारियों की सराहना की और उन्हें अखिल भारत और विदेशों में लगभग 42000 मेगावाट और विकास के विभिन्न चरणों के तहत 69 परियोजनाओं के वर्तमान पोर्टफोलियो के लिए बधाई दी।
 
कॉन्क्लेव के दूसरे दिन, श्री शिव खेड़ा द्वारा प्रस्‍तुत प्रेरणा सत्र ने प्रतिनिधियों को आत्मनिरीक्षण करने और अपनी अदोहित क्षमता के अन्‍वेषण की दिशा में कार्य करने के लिए प्रेरित किया। श्री शिव खेड़ा एक प्रसिद्ध लेखक, प्रेरक वक्ता और व्यावसायि‍क परामर्शक हैं और उनके क्रेडिट में एक अंतर्राष्ट्रीय सर्वश्रेष्ठ विक्रय पुस्‍तक 'यू कैन विन' है, जिसका 21 भाषाओं में अनुवाद किया गया है और वैश्विक स्तर पर 8 मिलियन प्रतियां बिक चुकी हैं। 
 
वर्षों के अनुसंधान एवं विवेक के साथ, उन्होंने 20 से अधिक देशों में लाखों लोगों को विकास और संतुष्टि के पथ पर अग्रसर किया है।
 
कॉन्क्लेव के दौरान, एसजेवीएन के विभिन्न कार्यालयों के कर्मचारियों की छह टीमों ने अतुल्य एसजेवीएन @35, ग्रीनिंग द ग्रिड - वन सन, वन वर्ल्ड, वन ग्रिड, एसजेवीएन के कोर वैल्‍यू - नए साझा विजन को प्राप्त करने में भूमिका, पावर - इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में प्राइम मूवर, बदलते जलवायु और ऊर्जा सुरक्षा तथा हाइड्रो पावर के तहत बांधों के विकास आदि विषयों पर प्रस्तुतियां दी।

पीएसयू समाचार
Scroll To Top