एसजेवीएन की अध्‍यक्षता में नराकास, शिमला (कार्यालय-2) का वार्षिक पुरस्‍कार वितरण समारोह तथा छमाही बैठक का आयोजन

Fri , 30 Dec 2022, 8:21 pm
एसजेवीएन की अध्‍यक्षता में नराकास, शिमला (कार्यालय-2) का वार्षिक पुरस्‍कार वितरण समारोह तथा छमाही बैठक का आयोजन
Organization of annual prize distribution ceremony under chairmanship of SJVN

Shimla- केंद्रीय सरकारी कार्यालयों, उपक्रमों एवं बैंकों में राजभाषा हिन्‍दी के प्रयोग को बढ़ाने के उद्देश्‍य से दिनांक 30.12.2022 को भारत सरकार द्वारा एसजेवीएन लिमिटेड के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक की अध्‍यक्षता में गठित नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति (नराकास), शिमला (कार्यालय-2) का वार्षिक राजभाषा पुरस्‍कार वितरण समारोह तथा छमाही बैठक का आयोजन एसजेवीएन लिमिटेड के परिसर में किया गया।  बैठक में हिंदी के प्रयोग की समीक्षा की गई तथा भारत सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने की दिशा में विचार-विमर्श किया गया।
 
सदस्‍य कार्यालयों के सर्वश्रेष्‍ठ राजभाषा कार्य-निष्‍पादन के लिए नराकास (कार्यालय-2) के सदस्‍य कार्यालयों को राजभाषा शील्‍ड से सम्‍मानित भी  किया गया। ये पुरस्कार निदेशक (कार्मिक) श्रीमती गीता कपूर, एसजेवीएन लिमिटेड के करकमलों से प्रदान किए गए।  
 
कार्यालयों की संख्‍या के आधार पर पुरस्‍कारों को तीन श्रेणियों यथा सरकारी कार्यालय एवं वित्‍तीय संस्‍थान, सार्वजनिक उपक्रम तथा बैंक श्रेणी में वि‍भाजित किया गया है।  प्रत्‍येक श्रेणी में 5 पुरस्‍कार सुनिश्चित किए गए हैं।  प्रथम पुरस्कार भारतीय जीवन बीमा निगम की ओर से श्री यंगजोर , वरिष्ठ मण्डल प्रबन्धक ने ,एसजेवीएन लिमिटेड की ओर से श्री एस.पटनायक, कार्यकारी निदेशक (मानव संसाधन) ने तथा भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से श्री आतिश अनंत, उप महाप्रबंधक ने प्राप्‍त किया।
 
द्वितीय पुरस्कार क्षेत्रीय भविष्‍य निधि आयुक्‍त, हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड तथा पंजाब नैशनल बैंक को मिला। जबकि मुख्‍य महाप्रबंधक,भारत संचार निगम लिमिटेड तथा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को तृतीय पुरस्कार दिया गया। भारतीय खाद्य निगम, यूको बैंक तथा पंजाब एंड सिंध बैंक को प्रोत्‍साहन पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया।
 
इस अवसर पर मुख्‍य अतिथि द्वारा राजभाषा गृहपत्र‍िका ‘’हिमसंवाद’’ के प्रथम अंक का विमोचन भी किया गया।  पत्रिका के प्रकाशन का उद्देश्य सदस्‍य कार्यालयों की सृजनात्‍मकता तथा रचनात्‍मक अभिरुचि को बढ़ावा देने के साथ-साथ राजभाषा हिंदी का प्रचार-प्रसार करना है । इस पत्र‍िका के प्रकाशन का समस्‍त दायित्‍व एसजेवीएन लिमिटेड द्वारा निभाया गया है ।
 
मुख्य अतिथि निदेशक (कार्मिक), श्रीमती गीता कपूर ने अपने  संबोधन में कहा कि सभी सदस्‍य कार्यालय अपने-अपने कार्यालय में सराहनीय कार्य कर रहे हैं और आगे भी इसी गति को बनाए रखते हुए अधिकतम कामकाज हिंदी में संपन्‍न करने का हरसंभव प्रयास करें I 
 
समारोह में उपस्थित सदस्‍यों का स्‍वागत करते हुए राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार के उप निदेशक(कार्यान्‍वयन), श्री कुमार पाल शर्मा ने कहा कि शिमला स्थित नराकास (कार्यालय-2) का कार्यभार एसजेवीएन की अध्‍यक्षता में सराहनीय कार्य कर रही है एवं  इस नराकास समिति का कार्य बहुत प्रशंसनीय है।
 
इस अवसर पर नराकास के सदस्‍य कार्यालयों के प्रमुख एवं एसजेवीएन के सभी विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।

पीएसयू समाचार
Scroll To Top