एफसीएमटी की प्रथम बैठक हाईब्रिड माध्यम से हुई संपन्न

Sat , 18 Jun 2022, 1:33 pm
एफसीएमटी की प्रथम बैठक हाईब्रिड माध्यम से हुई संपन्न
first meeting of FCMT was held through hybrid medium

NEW DELHI- बाढ़ संकट प्रबंधन टीम (FCMT) की मानसून 2022 की प्रथम बैठक प्रबोधन मध्य संगठन, केन्द्रीय जल आयोग, नागपुर में श्री धीरेन्द्र कुमार तिवारी, मुख्य अभियंता की अध्यक्षता में दिनांक 17-06-2022 को हाईब्रिड माध्यम (आफलाइन एवं आनलाईन) से संपन्न हुई।
 
बैठक का एजेंडा बाढ़ संकट प्रबंधन टीम के सदस्य सचिव श्री एम एस सहारे, अधीक्षण अभियंता (समन्वय) द्वारा रखा गया।  
 
ज्ञातव्य है कि वैनगंगा बेसिन में स्थित जलाशयों अर्थात मध्य प्रदेश में स्थित संजय सरोवर, पेंच (मचागोरा) जलाशय और राजीव सरोवर (बावनथड़ी) तथा महाराष्ट्र में स्थित गोसीखुर्द, तोतलादोह, ऊपरी वर्धा तथा ऊपरी पेनगंगा जलाशयों के समन्वित परिचालन हेतु मुख्य अभियंता, केंद्रीय जल आयोग की अध्यक्षता में बाढ़ जनित संकट के प्रबंध के लिए एक टीम गठित की गई है जिसमें मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के प्रतिनिधि सदस्य होते हैं।
 
तदनुसार बैठक मे बाढ़ संकट प्रबंधन टीम के सभी सदस्य सम्मिलित थे।  सभी जलाशयों के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता तथा कार्यकारी अभियंताओं ने बैठक में भाग लिया।
 
विशेष अमंत्रितों में भारत मौसम विभाग की ओर से नागपुर स्थित उप महा निदेशक तथा हैदराबाद स्थित उनके बाढ़ प्रबंधन संस्थान (FMO) के प्रमुख ने भाग लिया।
 
ऑनलाइन माध्यम से केंद्रीय जल आयोग के मुख्यालय से भी अधिकारी इस बैठक में सम्मिलित हुए।
 
बैठक में आने वाले मानसून के लिए कैसे सूचनाओं का आदान प्रदान किया जाए एवं किस तरह से आपसी समन्वय के साथ बांधों से जल को छोड़ा जाए ताकि निचले भागों बाढ़ से डुबान जैसी स्थिति उत्पन्न न हो,  इत्यादि विषयों पर चर्चा की  गई ।
 
जलाशय परिचालन करने वाले सभी अधिकारियों द्वारा अपने अपने जलाशयों के प्रबंधन और परिचालन पर प्रेजेंटेशन प्रस्तुत लिए गए। वैनगंगा बेसिन में केंद्रीय जल आयोग की बाढ़ पूर्वानुमान गतिविधियों पर भी एक प्रेजेंटेशन दिया गया।

पीएसयू समाचार
Scroll To Top