'रूबरू' कार्यक्रम के माध्यम से सीएमडी श्री मनोज कुमार ने टीम वेकोलि को किया संबोधित

Mon , 02 Jan 2023, 4:11 pm
'रूबरू' कार्यक्रम के माध्यम से सीएमडी श्री मनोज कुमार ने टीम वेकोलि को किया संबोधित
CMD addressed Team Wcl through Rubaru program

New Delhi- नव वर्ष के प्रथम कार्य दिवस, दिनांक 02.01.2022 को सीएमडी श्री मनोज कुमार ने कार्यक्रम "रूबरु" के माध्यम से टीम वेकोलि को संबोधित किया। वेकोलि मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में, श्री कुमार ने वेकोलि के सभी कर्मियों को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए वित्तीय वर्ष 2022-23 के शेष अवधि में उत्पादन, प्रेषण तथा ओबीआर के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने अब तक की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए टीम वेकोलि के उत्साह एवं मेहनत की प्रशंसा की।
 
उन्होंने बताया कि इस वित्तीय वर्ष में, वेकोलि ने दिसम्बर,  2022 तक के निर्धारित सकल लक्ष्य 38.16 मिलियन टन से आगे निकलते हुए 38.36 मिलियन टन प्राप्त किया है, जो कि गत वर्ष से 4.15 मिलियन टन अधिक है। वेकोलि ने इस वित्तीय वर्ष की तीन तिमाही में 42.91 मिलियन टन कोयला प्रेषण किया है, जो कि अब तक के लक्ष्य का 95 % है। इसी प्रकार वेकोलि ने 212.64 मिलियन क्यूबिक मीटर ओवरबर्डन हटाकर कर अब तक के लक्ष्य का 97 %  लक्ष्य हासिल कर लिया है।
 
उन्होंने कोयले की गुणवत्ता का जिक्र करते हुए कहा कि इस दिशा में सक्रिय कार्य हुआ है। उन्होंने कहा कि एकोना एवं पेनगंगा खदान के आलावा मुंगोली ओपन कास्ट में भी अब सरफेस माइनर लगाया गया है। इसी श्रृंखला को जारी रखते हुए अगला सरफेस माइनर पौनी-II खदान में जल्द ही शुरू होगा। निकट भविष्य में तीन और परियोजनाओं में सरफेस माइनर लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि वेकोलि में क्रशिंग कैपेसिटी (Crushing Capacity) को निर्धारित क्षमता के डेढ़ गुणा बढ़ा लिया गया है। इन प्रयासों के माध्यम से उपभोक्ताओं को अच्छे गुणवत्ता का कोयला उपलब्ध होगा।
 
भूमिगत खनन कार्य में नई तकनीक को अपनाने के परिप्रेक्ष्य में उन्होंने कहा कि इस वित्तीय वर्ष के दौरान पाथाखेड़ा क्षेत्र की ‘छतरपुर-I’ खदान में कंटीन्यूअस माइनर (Continuous Miner) लगाया गया है तथा ‘तवा’ खदान में भी जल्द ही कंटीन्यूअस माइनर का प्रयोग किया जायेगा। भविष्य में वेकोलि की भूमिगत खदानों में कुल 20 कंटीन्यूअस माइनर लगाने की रूपरेखा तैयार की गई है।
 
आगे उन्होंने इंटीग्रेटेड कमांड एंड कन्ट्रोल सेंटर फ़ॉर ई-सर्विलांस के शुभारंभ, पर्यावरण संरक्षण की दिशा में डस्ट सप्रेशन के लिए ट्रक एवं ट्रॉली माउंटेड फोग केनन, स्वीपिंग मशीन तथा ऑनलाइन एयर क्वॉलिटी मॉनिटरिंग हेतु सीएएक्यूएमसी के इस्तेमाल - का उल्लेख किया। उन्होंने चंद्रपुर क्षेत्र की भटाडी खदान से चंद्रपुर थर्मल पॉवर प्लांट को 06 हजार टन प्रति दिन की क्षमता वाले पाइप कन्वेयर के द्वारा कोयला प्रेषण, वेकोलि को मिले विभिन्न अवार्ड आदि का भी उल्लेख किया। अपने संबोधन में मिशन सेहत पर भी उनका विशेष बल रहा।
 
उन्होंने बताया कि वे हर पंद्रह दिन में रू-ब-रू के माध्यम से टीम वेकोलि से मुखातिब होंगे। इस अवसर पर, लक्ष्य प्राप्ति के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने वाले कर्मियों का ‘स्टार परफ़ॉर्मर ऑफ़ द फोर्टनाईट’ से  सम्मान किया जाएगा। उन्होंने विश्वास जताया की वेकोलि आपने वार्षिक उत्पादन, प्रेषण तथा ओबीआर के लक्ष्य को निश्चित ही हासिल करेगा।
 
इस अवसर पर वेकोलि के निदेशक (कार्मिक) डॉ संजय कुमार, निदेशक तकनीकी (योजना एवं परियोजना) श्री ए. के. सिंह एवं मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री अजय म्हेत्रे प्रमुखता से उपस्थित रहे। दर्शक दीर्घा में महाप्रबंधक, विभागाध्यक्ष, अधिकारी एवं कर्मचारी गण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। फसबूक लाइव के माध्यम से इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया।

पीएसयू समाचार
Scroll To Top