बीईएल ने जीते नराकास (उपक्रम), बेंगलूरु के राजभाषा पुरस्कार

Tue , 26 Jul 2022, 7:17 pm
बीईएल ने जीते नराकास (उपक्रम), बेंगलूरु के राजभाषा पुरस्कार
श्रीमती आनंदी रामलिंगम, सीएमडी, बीईएल, और अध्यक्ष, नराकास (उपक्रम), बेंगलुरु; और श्री नरेंद्र सिंह मेहरा, उप निदेशक (कार्यान्वयन/दक्षिण), राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार,

बेंगलुरु: नवरत्न रक्षा पीएसयू भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि. (बीईएल) ने नराकास (उपक्रम), बेंगलूरु द्वारा “राजभाषा कार्यान्वयन में उत्कृष्टता” के लिए संस्थापित तीन पुरस्कार जीते। बीईएल के बेंगलूरु कॉमप्लेक्स को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए राजभाषा कार्यान्वयन में उत्कृष्टता का प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ जबकि बीईएल कार्पोरेट कार्यालय की हिंदी गृह पत्रिका ‘नवप्रभा’ को बेंगलूरु स्थित पीएसयू की सभी गृह पत्रिकाओं में सर्वोत्तम पत्रिका चुना गया। बीईएल की केंद्रीय अनुसंधान प्रयोगशाला को वित्तीय वर्ष 2021-22 में राजभाषा कार्यान्वयन के लिए प्रोत्साहन पुरस्कार दिया गया। 
 
ये पुरस्कार 25 जुलाई, 2022 को बीईएल के राष्ट्रकवि कुवेम्पु कलाक्षेत्र, बेंगलूरु में आयोजित नराकास (उपक्रम), बेंगलूरु की दूसरी अर्ध वार्षिक बैठक (2022-23) और पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान श्रीमती आनंदी रामलिंगम, सीएमडी, बीईएल एवं अध्यक्ष, नराकास (उपक्रम), बेंगलूरु, डॉ. इला सेन, प्रोफेसर एवं डीन (से.नि.), भारतीय भाषाएं, ज्योति निवास कॉलेज, बेंगलूरु, मुख्य अतिथि और श्री नरेन्द्र सिंह मेहरा, उप निदेशक (कार्यान्वयन/दक्षिण), राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदान किए गए। 
 
श्री विक्रमन एन, महाप्रबंधक (मानव संसाधन), बीईएल कार्पोरेट कार्यालय और श्री आर पी मोहन, महाप्रबंधक (मानव संसाधन), बीईएल बेंगलूरु कॉमप्लेक्स, बीईएल के वरिष्ठ अधिकारीगण और राजभाषा टीम ने उक्त पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र प्राप्त किए। 

पीएसयू समाचार
Scroll To Top