38वीं भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त अंडमान सागर और मलक्का में हुई प्रारंभ

Tue , 14 Jun 2022, 8:06 pm
38वीं भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त अंडमान सागर और मलक्का में हुई प्रारंभ
Representative use for only/38th India Indonesia Coordinated Patrol begins

NEW DELHI- भारतीय नौसेना की अंडमान और निकोबार कमांड (एएनसी) इकाई तथा इंडोनेशिया की नौसेना के बीच 38वीं भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त (आईएनडी-आईएनडीओ कॉर्पेट) 13 से 24 जून 2022 तक अंडमान सागर और मलक्का जलडमरूमध्य में आयोजित की जा रही है।
 
38वीं कॉर्पेट दोनों देशों के बीच कोविड महामारी के बाद पहली समन्वित गश्त (कॉर्पेट) है। इसमें 13 से 15 जून, 2022 तक पोर्ट ब्लेयर में इंडोनेशियाई नौसेना की इकाइयों द्वारा एएनसी की यात्रा और उसके बाद अंडमान सागर में एक समुद्री चरण तथा 23 से 24 जून, 2022 तक सबांग (इंडोनेशिया) में भारतीय नौसेना इकाइयों की यात्रा शामिल है। 
 
भारत सरकार के सागर (क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा एवं विकास) दृष्टिकोण के हिस्से के रूप में मुख्यालय एएनसी के तत्वावधान में नौसेना इकाई क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ाने की दिशा में संबंधित विशिष्ट आर्थिक क्षेत्रों (ईईजेड) के साथ अंडमान सागर के अन्य तटीय देशों के साथ समन्वित गश्त करती है।
 
भारत और इंडोनेशिया ने विशेष रूप से घनिष्ठ संबंधों का लाभ उठाया लिया है, जिसमें विभिन्न गतिविधियां एवं बातचीत के व्यापक स्पेक्ट्रम शामिल हैं जो पिछले कुछ वर्षों में मजबूत हुए हैं। दोनों नौसेनाएं 2002 से अपनी अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (आईएमबीएल) के साथ-साथ कॉर्पैट का संचालन कर रही हैं।
 
इससे दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी समझ व अंतःक्रियाशीलता बढ़ाने में सहायता मिली है और अवैध अनरिपोर्टेड अनरेगुलेटेड (आईयूयू) फिशिंग, मादक पदार्थों की तस्करी, समुद्री आतंकवाद, सशस्त्र लूट तथा समुद्री डकैती, आदि को रोकने और इनका दमन करने के उपायों की सुविधा प्रदान की है।
 
आईएनडी-आईएनडीओ कॉर्पेट अंडमान सागर और मलक्का जलडमरूमध्य में मित्रता के मजबूत बंधन बनाने में योगदान देता है।

पीएसयू समाचार
Scroll To Top